Rahat Indori Shayari

Spread the love




Rahat Indori shayari in hindi

1. अब हम मकान में ताला लगाने वाले हैं
पता चला हैं की मेहमान आने वाले हैं

2. जागने की भी, जगाने की भी, आदत हो जाए
काश तुझको किसी शायर से मोहब्बत हो जाए
दूर हम कितने दिन से हैं, ये कभी गौर किया
फिर न कहना जो अमानत में खयानत हो जाए

3. कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते हैं
कभी धुएं की तरह पर्वतों से उड़ते हैं
ये केचियाँ हमें उड़ने से खाक रोकेंगी
की हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं

4. अब ना मैं हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे,
ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जाएंगे,
अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे।

5. तेरी हर बात मोहब्बत में गँवारा करके,
दिल के बाज़ार में बैठे हैं खसारा करके,
मैं वो दरिया हूँ कि हर बूंद भंवर है जिसकी,
तुमने अच्छा ही किया मुझसे किनारा करके।

6. मुझसे पहले वो किसी और की थी, मगर कुछ शायराना चाहिए था
चलो माना ये छोटी बात है, पर तुम्हें सब कुछ बताना चाहिए था

7. हाथ ख़ाली हैं तेरे शहर से जाते जाते,
जान होती तो मेरी जान लुटाते जाते,
अब तो हर हाथ का पत्थर हमें पहचानता है,
उम्र गुज़री है तेरे शहर में आते जाते।


Rahat Indori shayari on love

1. Suraj, sitaare, chaand mere saath me rahe, Jab tak tumhare haath mere haath me rahe,
Shaakhon se toot jaaye wo patte nahi hain hum, Aandhi se koi kah de ki aukaat me rahe..

2. Zubaan to khol, nazar to mila, jawaab to de, Mai kitni baar luta hoon mujhe hisaab to de,
Tere badan ki likhawat mai hai utaar chadaav, Mai tujhe kaise padhunga mujhe kitaab to de..

3. Nayi hawaaon ki sohbat bigaad deti hai, Kabtooro ko khuli chat bigaad deti hai,
Aur jo jurm karte hain itne bure nahi hote, Saza na deke adaalat bigaad deti hai..

4.Dosti Jab Kisi Se Ki Jaaye
Dushmanon Ki Bhi Raaye Li Jaaye

5.Main Akhir Kaun Sa Mausam Tumhare Naam Kar Deta
Yahan Har Ek Mausam Ko Guzar Jaane Ki Jaldi Thi


Rahat Indori shayari on poltics

1.Ban ke ik hadasa bazaar me aa jayega, Jo nahi hoga wo akhbaar me aa jayega,
Chor uchkkon ki karo kadr, ki maloom nahi,
Kaun, kab, kon si sarkaar me aa jayega

Rahat Indori shayari for maa

1.Ghar Ke Bahar Dhundhta Rahta Huun Duniya
Ghar Ke Andar Duniya-daari Rahti Hai

Best Shayari

1.ऐसा लगता है लहू में हमको, कलम को भी डुबाना चाहिए था
अब मेरे साथ रह के तंज़ ना कर, तुझे जाना था जाना चाहिए था

2. उसकी याद आई हैं साँसों ज़रा धीरे चलो
धड़कनो से भी इबादत में खलल पड़ता हैं

 

3. रोज़ तारों को नुमाइश में खलल पड़ता हैं
चाँद पागल हैं अंधेरे में निकल पड़ता हैं

 

4. ये हादसा तो किसी दिन गुज़रने वाला था
मैं बच भी जाता तो इक रोज़ मरने वाला था

5. ज़रूर वो मेरे बारे में राय दे लेकिन
ये पूछ लेना कभी मुझसे वो मिला भी है


6. प्यार के उजाले में गम का अँधेरा क्यों है,
जिसको हम चाहे वही रुलाता क्यों है,
मेरे रब्बा अगर वो मेरा नसीब नहीं तो,
ऐसे लोगो से हमे मिलता क्यों है…

7.तुम क्या जानो क्या है तन्हाई,
इस टूटे हुए पत्ते से पूछो क्या है जुदाई,
यु बेवफा का इलज़ाम न दे ज़ालिम,
इस वक़्त से पूछ किस वक़्त तेरी याद न आई…

8. छोटे कद-ओ-कामत पे मुमकिन है हँसे जंगल
एक पैर बहुत लम्बा है उस को गिरा देना
मुमकिन है की इस तरह वेह्शत में कमी आये
कभी इन् परिंदों पर एक गोली चला देना